छत्तीसगढ़

रमन के खिलाफ कांग्रेस से 7 दावेदार, 15 को घोषित होने की संभावना

राजनांदगांव

राजनांदगांव विधानसभा सीट पर कब्जा करने के लिए कांग्रेस पार्टी से इस बार 7 उम्मीदवारों ने अपनी दावेदारी पेश की है क्योंकि पिछले डेढ़ दशक से इस सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने अपना कब्जा जमाया हुआ है। भाजपा ने इस बार फिर डा. रमन सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है वहीं कांग्रेस ने अभी तक किसी भी सीट पर उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है और संभवत: 15 अक्टूबर को पहली सूची जारी होने की संभावना है। उसमें पता चल पाएगा कि रमन सिंह के खिलाफ भागवत साहू, महापौर हेमा देशमुख, कुलबीर छाबड़ा, जितेंद्र मुदलियार, पूर्व महापौर  नरेश डाकलिया या युवा चेहरा निखिल द्विवेदी चुनाव लड़ेंगे।

साहू समाज के मतों का ध्रुवीकरण के चलते साहू समाज के जिलाध्यक्ष और हाल ही में कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्यक्ष भागवत साहू का नाम सामने आ रहा है। साहू समाज के उम्मीदवार को मौका देकर अन्य विधानसभा क्षेत्रों में भी कांग्रेस प्रभाव डालने की कोशिश कर सकती है। वहीं महापौर हेमा देशमुख भी एक सशक्त दावेदार मानी जा रही है और लगातार जनहित के मुद्दों को लेकर सक्रिय भी है। शहर अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा भी दमदार चेहरे हैं और 5 बार के पार्षद छाबड़ा ने विपरीत परिस्थितियों में भी अपने वार्ड से भाजपा को मात दी है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी कुलबीर की साख मजबूत है।

युवा आयोग अध्यक्ष जितेन्द्र मुदलियार की लोकप्रियता भी बरकरार है उन्हें युवाओं के बीच दमदार चेहरा माना जा रहा है। वे पूर्व विधायक स्व. उदय मुदलियार के बेटे हैं। पूर्व महापौर नरेश डाकलिया ने भी दावेदारी पेश की है क्योंकि उन्होंने बतौर महापौर राजनांदगांव को अलग पहचान दिलाया था। युवा चेहरे निखिल द्विवेदी भी टिकट के दौड़ में शामिल है और वे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के करीबी माने जाते हैं।  अब देखना यह होगा कि टिकट घोषणा के समय इन चेहरों में से कौन उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे।

Back to top button