विदेश

इजरायल के हमले से एक रात में 700 की मौत, गाजा में कहर बनकर टूटे रॉकेट

गाजा

गाजा पट्टी पर इजरायली सेना का कहर जारी है। इजरायली सेना पहले ही हमास को नेस्तनाबूत करने की चेतावनी जारी कर चुकी है। बुधवार तड़के यह भी जानकारी आई कि इजरायली सेना ने हमास का समर्थन करने पर सीरिया के मिलिट्री कैंप पर बमबारी शुरू कर दी है। इजरायली सेना आईडीएफ चुन-चुनकर हमास के ठिकानों को निशाना बना रही है।  गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इजरायली हवाई हमलों में 24 घंटे के अंदर 700 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए। अनुमान है कि अब तक के हवाई हमले में मारे गए लोगों में मौत का यह आंकड़ा सबसे अधिक है। उधर, इजरायली सेना ने दावा किया कि उसने हमास के 400 से अधिक ठिकानों पर हमला किया और रात भर में दर्जनों लड़ाकों को मार डाला। 

गाजा में चल रहे कत्लेआम को लेकर पूरी दुनिया चिंता में है। बुधवार को यूएन में भारत ने भी गाजावासियों की मदद जारी रखने की बात कही है। वहीं, संयुक्त राष्ट्र ने यह कहते हुए गाजा में आपातकालीन सहायता की अनुमति देने का आह्वान किया कि वर्तमान डिलीवरी अपर्याप्त थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सुरक्षित सहायता वितरण की अनुमति देने के लिए तत्काल युद्धविराम का आह्वान किया है। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 7 अक्टूबर से इजरायली बमबारी में 5,700 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए हैं। 

 

एक ही रात में मारे गए 700 से ज्यादा फिलिस्तीनी
गाजा के हमास संचालित स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि इजरायली हवाई हमलों में रात भर में 700 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए। इजरायल की दो सप्ताह से जारी "घेराबंदी" में 24 घंटे में मरने वालों की संख्या यह सबसे अधिक है। उधर, गाजा में सहायता के लिए इजरायल की अनुमति के लिए दबाव बढ़ गया है। 

इजरायल बोला- हमास के 400 से ज्यादा ठिकानों पर निशाना
गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के दावों के विपरीत इजरायली सेना ने कहा कि उसने 400 से अधिक हमास आतंकवादी ठिकानों पर हमला किया है और रात भर में उसके दर्जनों लड़ाकों को मार डाला है, लेकिन गाजा के सत्तारूढ़ इस्लामी समूह को नष्ट करने में समय लगेगा। इजराइल ने कहा कि उसने रात में जिन लक्ष्यों को निशाना बनाया उनमें एक सुरंग भी थी जिससे हमास समुद्र से इजराइल में घुसपैठ करने की फिराक में था। साथ ही मस्जिदों में हमास के कमांड सेंटर भी थे।

 

गाजावासियों के लिए चिंतित संयुक्त राष्ट्र
संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने मंगलवार को गाजा में आपातकालीन सहायता को बिना किसी रुकावट के अनुमति देने का अनुरोध किया है। साथ ही कहा कि दो सप्ताह से जारी इजरायली बमबारी के बाद गाजा पट्टी में फिलिस्तीनी लोगों को को समर्थन की आवश्यकता है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने गाजा में "अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानून के स्पष्ट उल्लंघन" के बारे में चिंता व्यक्त करते हुए नागरिकों की सुरक्षा की अपील की। उनके बयान ने इजरायल को नाराज कर दिया है। इजरायल ने गुटेरेस से इस्तीफा देने की मांग की है। 

इजरायली बमबारी में 5791 फिलिस्तीनी मारे गए- गाजा
गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 7 अक्टूबर से अब तक घनी आबादी वाले क्षेत्र में इजरायली बमबारी में कम से कम 5,791 फिलिस्तीनी मारे गए हैं, जिनमें 2,360 बच्चे भी शामिल हैं। इसमें कहा गया है कि अकेले पिछले 24 घंटों में कुल 704 लोग मारे गए। गाजा पट्टी के अधिकतर जगहों को इजरायली बमों द्वारा ध्वस्त कर दिया गया है। भोजन, साफ़ पानी, दवाएँ और ईंधन तेज़ी से ख़त्म हो रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि 40 से अधिक चिकित्सा केंद्रों में ईंधन खत्म होने या इजरायली बमबारी से क्षतिग्रस्त होने के बाद परिचालन रोक दिया गया है।

Back to top button