मध्यप्रदेश

स्वास्थ्य से जुड़े सवालों के उत्तर अब युवाओं की उँगलियों पर : स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी

"जस्ट आस्क/खुलके पूछो चैटबॉट का शुभारंभ

भोपाल

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि स्वास्थ्य से जुड़े सवालों के उत्तर युवाओं की उँगलियों पर होंगे। प्रदेश में नवाचार के तौर पर "जस्ट आस्क/खुलके पूछो'' चैटबॉट शुरू हो गया है। ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस आधारित चैटबॉट से युवा उनके मन में उठने वाले प्रश्नों का उत्तर पा सकेंगे। चैटबॉट का उपयोग करना बहुत सरल है। बच्चों के मन में चलने वाले विचारों और सवालों का समाधान चैटबॉट देगा।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि प्रदेश स्वास्थ्य के क्षेत्र में लगातार उन्नति कर रहा है। स्वास्थ्य संस्थाओं में आधुनिक और उन्नत सुविधाएँ उपलब्ध कराई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि यह भी एक संयोग है कि ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस आधारित देश का पहला चैटबॉट प्रदेश में शुरू हो रहा है। उन्होंने चैटबॉट को विकसित करने और इस नवाचार को प्रदेश में शुरू करने के लिये संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष का आभार माना। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष की भारत प्रतिनिधि और भूटान की कंट्री डायरेक्टर सुएंड्रिया एम. वोज्नार के साथ चैटबॉट का अनावरण किया।

यूएनएफपीए की भारत प्रतिनिधि एवं भूटान की कंट्री डायरेक्टर सुवोज्नार ने कहा कि युवाओं और व्यक्तियों को सुरक्षित स्थानों की आवश्यकता होती है, जहाँ से वे सही और विश्वसनीय जानकारी प्राप्त कर सकें। इस चैटबॉट से सामाजिक और व्यक्तिगत मुद्दों के साथ विभिन्न शारीरिक परिवर्तनों मासिक धर्म, प्रजनन स्वास्थ्य, गर्भावस्था, परिवार नियोजन सहित अन्य विषयों से संबंधित प्रश्नों के उत्तर प्राप्त किये जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि "खुलके पूछो चैटबॉट'' संचार के सबसे अधिक लोकप्रिय तरीके का उपयोग करते हुए यह सुनिश्चित करता है कि स्वास्थ्य से जुड़े सवालों के जवाब युवाओं की उँगलियों पर रहें। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने कहा कि चैटबॉट आसानी से प्रयोग किया जाने वाला साधन है। यह समय के साथ युवाओं के लिये सबसे अधिक विश्वसनीय मददगार साबित होगा। उन्होंने चैटबॉट से अधिक से अधिक युवा परिचित हों, इसके लिये चैटबॉट की जानकारी देने अधिकारियों को निर्देश दिये। स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े ने कहा कि चैटबॉट युवाओं के स्वास्थ्य संबंधी प्रश्नों के सही-सही उत्तर देने में सक्षम होगा। एमडी एनएचएम श्रीमती प्रियंका दास ने "खुलके पूछो चैटबॉट'' को युवाओं के लिये लाभकारी बताया। कार्यक्रम के प्रारंभ में संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष के एमपी स्टेट हेड सुनील थॉमस जेकब, डायरेक्टर एनएचएम (टीकाकरण) डॉ. संतोष शुक्ला ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की।

"जस्ट आस्क-खुलके पूछो'' डिजिटल एंगेजमेंट प्लेटफार्म के साथ उपयोगकर्ता के बड़े होने, शारीरिक परिवर्तन, यौवन, मासिक धर्म, प्रजनन स्वास्थ्य, गर्भावस्था, परिवार नियोजन, मानसिक स्वास्थ्य और अन्य विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जा सकते हैं। चैटबॉट उपयोगकर्ताओं को वार्तालाप में जोड़ते हुए उन्हें सटीक और विश्वसनीय जानकारी प्रदान करेगा। उपयोगकर्ताओं के अनुभव को सुरक्षित, व्यक्तिक, बहुभाषी और सहानुभूतिपूर्ण बनाने के लिये चैटबॉट में प्रावधान है। सामग्री सरल, आकर्षक इन्फोग्राफिक्स द्वारा समर्थित है, जो सामान्य समझ को बढ़ाती है और उपयोगकर्ताओं को आसानी से जानकारी को समझने में सक्षम बनाती है। इसके अतिरिक्त चैटबॉट किशोरों को किशोर अनुकूल स्वास्थ्य क्लीनिक, स्वास्थ्य सुविधाओं और हेल्पलाइन से जोड़ता है। उत्कृष्ट कार्य करने वाले साथिया समूह के युवाओं को पुरस्कृत किया गया और चैटबॉट संबंधी पोस्टर का विमोचन भी किया गया।

 

Aakash

Back to top button