देश

खराब श्रेणी में पहुंचा AQI, दमघोंटू होने लगी दिल्ली की हवा, अगले 6 दिन कैसी हवा में सांस लेंगे आप

नई दिल्ली
दिल्ली की वायु गुणवत्ता गुरुवार को खराब श्रेणी में पहुंच गई। जबकि न्यूनतम तापमान इस सीजन में अब तक के सबसे निचले स्तर 16.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा की दिशा में बदलाव के एक दिन बाद पारा 20 डिग्री सेल्सियस (19.4 डिग्री सेल्सियस) से नीचे आ गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, सुबह 9 बजे प्रति घंटा वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 204 था जो खराब श्रेणी के निचले स्तर पर था। बुधवार को, औसत 24 घंटे का एक्यूआई मध्यम श्रेणी के उच्च अंत में 193 था।

0-50 के बीच को अच्छा एक्यूआई माना जाता है। वहीं 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बहुत खराब और 400 से अधिक एक्यूआई को गंभीर माना जाता है। बुधवार सुबह 8 बजे एक्यूआई 196 (मध्यम) दर्ज किया गया, जबकि एक दिन पहले यह 180 (मध्यम) था। हवा की दिशा उत्तर-पश्चिमी होने और स्थानीय हवा की गति में गिरावट के कारण शुक्रवार तक हवा की गुणवत्ता (क्वालिटी) खराब रहने की संभावना है।

ठंडी उत्तर-पश्चिमी हवाएं वायु गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव डालती हैं। तापमान में गिरावट से प्रदूषकों का फैलाव धीमा हो जाता है और हरियाणा एवं पंजाब के खेतों से पराली का धुआं भी निकलता है। यहां साल के इस समय के आसपास खेतों में आग लगने की कई घटनाएं दर्ज की जाती हैं। पिछले हफ्ते सबसे पहले न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया था। तब पारा 18.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। इसके बाद हवा की दिशा में बदलाव आया और शनिवार को न्यूनतम तापमान बढ़कर 20.9 डिग्री सेल्सियस हो गया।

रविवार को यह बढ़कर 23.1 और सोमवार को 24.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। मंगलवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान 22.7 डिग्री सेल्सियस था, जो सामान्य से दो डिग्री अधिक था। बुधवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम और अधिकतम 35 डिग्री सेल्सियस था, जो सामान्य से एक डिग्री अधिक था। इस सीजन में अबतक सबसे कम तापमान 3 अक्टूबर को (18.3 डिग्री सेल्सियस) दर्ज किया गया था। वायु गुणवत्ता प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली (एक्यूईडब्ल्यूएस) के पूर्वानुमान के अनुसार, शुक्रवार तक हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी के निचले स्तर पर रहने की संभावना है।

अगले छह दिनों के पूर्वानुमान से पता चलता है कि हवा की गुणवत्ता खराब और मध्यम के बीच रहने की संभावना है। एक्यूईडब्ल्यूएस केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत एक पूर्वानुमान प्रणाली है। वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) प्रदूषण को लेकर पूर्व कदम उठाने के लिए एक्यूईडब्ल्यूएस पर निर्भर करता है। दिल्ली में इस सर्दी के मौसम में शुक्रवार को पहली बार हवा खराब थी। उस दिन एक्यूआई 212 दर्ज किया गया था। जिसके बाद राजधानी में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान के चरण- I उपायों को लागू किया।

 

Back to top button