व्यापार

16000 के पार हुई इस SUV की बुकिंग, 3 तीन महीने से ज्यादा वेटिंग

मुंबई

हुंडई ने 10 जुलाई को भारत में एक्सटर सबकॉम्पैक्ट एसयूवी को 6 लाख रुपये (एक्स-शोरूम, भारत) की शुरुआती कीमत पर लॉन्च किया है। ऑटोकार इंडिया के साथ हाल ही में बातचीत में हुंडई के सीओओ तरुण गर्ग ने बताया कि मई में बुकिंग शुरू होने के बाद से एक्सटर की 16,000 से अधिक बुकिंग हो चुकी हैं। Hyundai Exter AMT पर सबसे ज्यादा वेटिंग पीरियड है। मैनुअल और AMT वैरिएंट में अधिक बुकिंग देखी जा रही है। हुंडई एक्सटर (Hyundai Exter) सनरूफ जैसी कई सेगमेंट-फर्स्ट फीचर्स के साथ आती है।

 

हुंडई एक्सटर बुकिंग, वेटिंग पीरियड

एक्सटर की बुकिंग के बारे में बात करते हुए गर्ग ने बताया कि लॉन्च के बाद से प्रति दिन 1,800 की दर से बुकिंग आ रही है। उन्होंने आगे कहा कि लगभग 38 प्रतिशत बुकिंग AMT के लिए, 22 प्रतिशत CNG के लिए और 40 प्रतिशत पेट्रोल मैनुअल वैरिएंट के लिए हैं। इसका मतलब यह है कि ऑटोमैटिक और मैनुअल वैरिएंट की बुकिंग लगभग समान रूप से विभाजित है।

किस पर कितना वेटिंग?

डीलर सूत्रों ने पुष्टि की है कि वैरिएंट के आधार पर एक्सटर का वेटिंग पीरियड 12 सप्ताह तक चल रहा है। एक्सटर मैनुअल और सीएनजी वैरिएंट का वेटिंग पीरियड लगभग 6 से 8 सप्ताह है, जबकि ऑटोमैटिक वैरिएंट का वेटिंग पीरियड 10 से 12 सप्ताह के बीच है। इसलिए, एक्सटर मैनुअल के लिए बुकिंग की अधिक संख्या के बावजूद, यह AMT-फर्निश वैरिएंट है, जो सबसे ज्यादा वेटिंग पीरियड के साथ आती है।

हुंडई एक्सटर की रायवल कारें

एक्सटर का मुकाबला टाटा पंच, सिट्रोएन C3 और मारुति सुजुकी इग्निस से है। मई से जब हुंडई की सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी की बुकिंग शुरू हुई, तब से पंच की 22,000 से यूनिट्स बिक चुकी हैं। इसी अवधि में एक्सटर के अन्य दो रायवल सिट्रोएन C3 और मारुति सुजुकी इग्निस ने बहुत कम यूनिट्स बेची हैं। Citroen की लगभग 1,500 यूनिट्स बिकीं, जबकि मारुति की लगभग 8,900 यूनिट्स बिकीं।

सेगमेंट के बेस्टसेलर पंच को कड़ी टक्कर

एक्सटर से सेगमेंट के बेस्टसेलर पंच को कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है, क्योंकि यह कई सेगमेंट-फर्स्ट फीचर्स से लैस है। सीएनजी पावरट्रेन विकल्प के अलावा, इसमें वॉयस-असिस्टेंस सनरूफ, डैशकैम, 6 एयरबैग और साथ ही ESC पूरी रेंज में मानक के रूप में मिलते हैं। कंपनी को उम्मीद है कि सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट की मासिक बिक्री 10,000-11,000 यूनिट से दोगुनी हो जाएगी।

 

Aakash

Back to top button