विदेश

हमास और इजरायल युद्ध: सैनिक के अंतिम संस्कार में हमास का रॉकेट से हमला, मच गई चीख पुकार

हमास

हमास और इजरायल के बीच 6 दिनों से चल रहे भीषण युद्ध में मरने वालों की संख्या कम से कम 3700 पहुंच गई है। दोनों खेमों को काफी जान-माल का नुकसान हुआ है। इजरायल हालांकि गाजा पट्टी पर कहर बनकर टूट रहा है लेकिन, इससे पहले हमास की इजरायलियों पर बर्बरता काफी भयावह है। फिलिस्तीनी आतंकियों की क्रूरता अलग ही स्तर पर पहुंच गई हैं। ताजा मामला यरूशलेम के बाहर 20 साल के एक इजरायली सैनिक के अंतिम संस्कार के दौरान का है। यहां सैकड़ों इजरायली स्तुति सुन रहे थे, तभी हवाई हमले के सायरन बजने लगते हैं। पता लगा कि गाजा पट्टी से रॉकेट छोड़े गए हैं। लोगों में चीख-पुकार मच गई।

इजरायली के नेस हरीम शहर में 20 वर्षीय सैनिक सेकंड लेफ्टिनेंट यानाई कामिंका की शनिवार को मौत हो गई थी। वह गाजा के फिलिस्तीनी आतंकवादियों से लड़ते हुए मारे गए। इजरायल के सैन्य ठिकानों और रेगिस्तान में उपद्रव मचाते हुए हमास के बंदूकधारियों ने 1,200 इजरायलियों को क्रूरता पूर्वक मार डाला, जिनमें ज्यादातर आम नागरिक थे। उन्होंने दर्जनों अन्य लोगों को बंधक बना लिया और उन्हें गाजा ले गए। नेस हरीम इलाके में अंतिम संस्कार के दौरान हमास आतंकियों के रॉकेट हमले की घटना से पूरे इजरायल में गुस्सा है। सोशल मीडिया पर लोग हमास की क्रूरता की निंदा कर रहे हैं। करीब 10 मिलियन आबादी का देश इजरायल अपने 75 साल के इतिहास में सबसे घातक हमले का सामना कर रहा है। ऐसा कोई नहीं, जो डर, सदमे और दुःख से अछूता नहीं है। यहां कई परिवारों ने अपनों को खो दिया। हमास आतंकियों द्वारा गोलियों से भूनने और महिलाओं से दरिंदगी की तमाम कहानियां सोशल मीडिया पर प्रसारित की जा रही हैं।
 
सैनिक के अंतिम संस्कार के दौरान रॉकेट हमला
नेस हरीम इलाके में बड़ी संख्या में लोग यानाई कामिंका के अंतिम संस्कार को जुटे थे। लोग स्तुति सुनरहे थे, तभी सायरन बजने लगते हैं। पता लगता है कि गाजा से लॉन्च किए गए रॉकेट आकाश में फट रहे हैं। उन्हें इज़राइल के सुरक्षाकर्मियों द्वारा हवा में ही नष्ट किया जा रहा था। कुछ अन्य पास की जगहों पर विस्फोट के साथ गिर रहे थे। शोक मनाने वाले लोग ज़मीन पर गिर पड़े और चुपचाप लेट गए। गिरने वाले मलबे से खुद को बचाने के लिए उन्होंने अपने सिर पर हाथ रख लिया। हमास के खिलाफ जंग में सक्रिय दो इजरायली सैनिकों की 54 वर्षीय मां केली मेयर्स का कहना है, "यह पूरी तरह से अकल्पनीय था।" "यह क्रूरता का अलग स्तर था।"

हमास का नामों-निशान मिटा देंगे- नेतन्याहू
प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमास के खिलाफ एक क्रूर अभियान का वादा किया है, जो गाजा पर शासन करता है और इजरायल पर लगातार हमला कर रहा है। इज़रायली अब एक लंबे युद्ध की तैयारी कर रहे हैं जिसके मध्य पूर्व से परे परिणामों के साथ व्यापक संघर्ष का जोखिम है।

गाजा पर तीन दिनों से गिर रही मिसाइलें
शनिवार से ही दिन-रात मिसाइलें बरस रही हैं। गाजा में स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, बुधवार सुबह तक 1,000 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए हैं। उन्होंने यह नहीं बताया कि उनमें से कितने आम नागरिक थे। लगभग हजारों लोग पलायन को मजबूर हैं लेकिन, सीमा पार के लिए कोई रास्ता न मिल पाने की वजह से उनके सामने जिंदगी बचाने का संकट पैदा हो गया है।हवाई हमले के बारे में गाजा पट्टी में रहने वाले आयशा अबू दक्का ने कहा, "आप हर कुछ मिनट में धमाके की आवाज सुनेंगे, और फिर आपको घर हिलते हुए महसूस होगा।" "फिलहाल, हम बस इंतज़ार कर सकते हैं और प्रार्थना कर सकते हैं।" अबू दक्का ने कहा, "कहीं भी सुरक्षित नहीं है।" "हवाई हमले और बमबारी भयावह हैं। क्या यह वह सुरक्षित जगह है जहां इज़राइल ने हमें शरण लेने की सलाह दी है?"

 

Back to top button