विदेश

इजरायल – हमास के युद्ध में अगर उतरा ईरान, तो बदलेगी तस्वीर

नईदिल्ली

Iran गाजा पट्टी (Gaza Strip) पर हो रहे इजरायली हमलों से परेशान है. वह इसका विरोध कर रहा है. अगर इजरायल और हमास के बीच चल रहे युद्ध में ईरान उतरता है, तो काफी कुछ बदल जाएगा. मामला फिर इस इलाके की पूरी मिलिट्री डायनेमिक्स पर आ जाएगा. सिर्फ यहां ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की मिलिट्री डायनेमिक्स में तगड़ा बदलाव देखने को मिलेगा. लेकिन ईरान और इजरायल में किसकी सैन्य ताकत ज्यादा है. 

ईरान की आबादी 8.67 करोड़ है, जबकि इजरायल की मात्र 89.14 लाख. अगर मौजूदा मैनपावर की बात करें, तो भी ईरान इजरायल से बहुत आगे हैं. ईरान के पास 4.85 करोड़ और इजरायल के पास 37.44 लाख मैनपावर हैं. इनमें से ईरान 4 करोड़ से ज्यादा लोगों को तुरंत सेना में भर्ती कर सकता है. जबकि इजरायल के पास 31.11 लाख लोग ही इस लायक हैं. 

ईरान की सेनाओं में 5.75 लाख लोग एक्टिव पर्सनल हैं, जबकि इजरायल के पास मात्र 1.73 लाख लोग. 4 लाख से ज्यादा का अंतर है. जहां तक बात है रिजर्व फोर्स की तो यहां इजरायल आगे है. उसके पास 4.65 लाख की रिजर्व फोर्स है, जबकि ईरान के पास 3.50 लाख लोगों की. लेकिन ईरान के पास 90 हजार पैरा मिलिट्री जवान हैं. इजरायल के पास मात्र 8000. 

इजरायल के पास ज्यादा फाइटर जेट्स

ईरान की तुलना में इजरायल का रक्षा बजट बहुत ज्यादा है. ईरान का पिछला रक्षा बजट 555 करोड़ डॉलर्स था. जबकि, इजरायल का 2430 करोड़ डॉलर्स था. हवाई ताकत की बात करें तो इजरायल के पास 601 एयरक्राफ्ट्स हैं. जबकि ईरान के पास सिर्फ 541 ही. इजरायल के पास 241 फाइटर एयरक्राफ्ट हैं, जबकि ईरान के पास मात्र 196 जेट्स ही हैं. 

इजरायल के पास 32 डेडिकेटेड अटैक एयरक्राफ्ट, वहीं, ईरान के पास सिर्फ 23 हैं. ईरान के पास ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट 86 हैं, जबकि इजरायल के पास सिर्फ 15. इजरायल के पास ट्रेनिंग देने वाले फाइटर जेट्स 153 हैं, जबकि ईरान के पास मात्र 94. स्पेशल मिशन पूरा करने के लिए इजरायल के पास 23 एयरक्राफ्ट हैं, जबकि ईरान के पास सिर्फ 9 ही हैं. 

इजरायल के पास 48 अटैक हेलिकॉप्टर

इजरायल और ईरान दोनों के पास 126-126 हेलिकॉप्टर हैं. लेकिन इजरायल के पास इनमें से 48 अटैक हेलिकॉप्टर हैं. ईरान के पास सिर्फ 12 अटैक हेलिकॉप्टर हैं. टैंक्स की बात करते हैं तो इजरायल के पास मात्र 2200 टैंक्स हैं, जबकि ईरान के पास 4071 टैंक्स हैं. ईरान के पास 69,685 बख्तरबंद वाहन हैं, वहीं… इजरायल के पास 56,290 आर्मर्ड व्हीकल मौजूद हैं. 

ईरान के पास पुराने और ज्यादा टोड आर्टिलरी

सेल्फ प्रोपेल्ड आर्टिलरी की बात करते हैं तो इजरायल इसमें आगे हैं. उसके पास 650 आर्टिलरी है. जबकि ईरान के पास मात्र 580 ही हैं. ईरान के पास खींचकर ले जाने वाली आर्टिलरी (Towed Artillery) ज्यादा है. उसके पास 2050 टोड आर्टिलरी है, जबकि इजरायल के पास 300 ही हैं. ईरान के पास 1085 मोबाइल रॉकेट प्रोजेक्टर्स हैं. इजरायल के पास कुल 300 मोबाइल रॉकेट प्रोजेक्टर्स हैं. 

इजरायल की नौसेना ईरान से ताकत में कम

अगर दोनों देशों के नौ सेना की बात करते हैं तो ईरान के पास कुल फ्लीट 101 है. जबकि इजरायल के पास 67 जहाज ही हैं. दोनों के पास एयरक्राफ्ट कैरियर नहीं हैं. ईरान के पास 19 पनडुब्बियां हैं, जबकि इजरायल के पास 5 पनडुब्बियां हैं. ईरान के पास 7 फ्रिगेट्स हैं. इजरायल के पास नहीं है. ईरान के पास 3 तो इजरायल के पास 7 कॉर्वेट युद्धपोत हैं. 

इमरजेंसी में सड़कें, एयरपोर्टस के इस्तेमाल की क्षमता इजरायल के पास कम

इजरायल के पास 45 पेट्रोल वेसल हैं, जबकि ईरान के पास सिर्फ 21 ही हैं. ईरान के पास एक माइन वॉरफेयर हैं. जबकि इजरायल के पास एक भी नहीं है. ईरान के पास 319 एयरपोर्ट्स हैं. जबकि इजरायल के पास सिर्फ 42. ईरान के पास 2.23 लाख किलोमीटर से ज्यादा लंबी सड़के हैं. जबकि, इजरायल के पास मात्र 19,555 किलोमीटर लंबी सड़के हैं. 

इजरायल क्षेत्रफल के मामले में ईरान से बेहद छोटा है. ईरान 16.48 लाख वर्ग किलोमीटर में फैला है. जबकि इजरायल मात्र 20,770 वर्ग किलोमीटर में. इजरायल के साथ एक चीज अच्छी है कि उसकी सीमाएं ज्यादा देशों से साझा नहीं हैं. तटीय सीमा भी मात्र 273 किलोमीटर की है. जबकि ईरान की 2440 किलोमीटर की है. 

Back to top button