देश

ED के पास नहीं जाएंगे केजरीवाल! नोटिस को ही बता दिया गलत; क्या प्लान

नईदिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पेशी से ठीक पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को समन नोटिस का जवाब भेजा है। केजरीवाल ने इसे गैर कानूनी बताते हुए तुरंत वापस लेने को कहा है। आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल का कहना है कि उन्हें चार राज्यों में चुनाव प्रचार से रोकने के लिए भाजपा के कहने पर नोटिस भेजा गया है। केजरीवाल के जवाब से माना जा रहा है कि वह आज ईडी के सामने पेश नहीं होंगे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ईडी को भेजे जवाब में कहा, 'समन का नोटिस अवैध और राजनीति से प्रेरित है। नोटिस भाजपा के इशारे पर भेजा गया है। नोटिस यह सुनिश्चित करने के लिए भेजा गया है कि मैं चार राज्यों में चुनाव प्रचार के लिए जाने में असमर्थ रहूं। ईडी को तुरंत नोटिस वापस लेना चाहिए।' मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से यह जानकारी दी गई है। केजरीवाल समन मिलने के बाद से इस पर चुप्पी साधे रहे, जबकि पार्टी के नेता उनकी गिरफ्तारी की आशंका जाहिर करते रहे। पेशी से ठीक पहले केजरीवाल ने जवाब भेजा है। माना जा रहा है कि केजरीवाल नोटिस के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा भी खटखटा सकते हैं।

इससे पहले आम आदमी पार्टी ने ईडी की नोटिस को लेकर कहा था कि आम आदमी पार्टी को खत्म करने की कोशिश के तहत उन्हें फंसाने की कोशिश की जा रही है। 'आप' ने केजरीवाल की गिरफ्तारी की आशंका भी जताई थी। केजरीवाल को जिस शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में तलब किया है, उसी में उनके पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इस साल फरवरी से ही जेल में हैं। हाल ही में उनके वरिष्ठ नेता संजय सिंह को भी गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ छोड़ MP जा सकते हैं केजरीवाल
सूत्रों के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल का गुरुवार को मध्य प्रदेश जाने का प्लान है। वह सिंगरौली में पार्टी की उम्मीदवार रानी अग्रवाल के नामांकन में शामिल हो सकते हैं। केजरीवाल पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ सिंगरौली जा सकते हैं। रानी अग्रवाल आम आदमी पार्टी की मध्य प्रदेश में संयोजक भी हैं।

AAP का दावा- केजरीवाल गिरफ्तार हो सकते हैं
दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने मंगलवार को दावा किया था कि 2 नवंबर को ED मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर सकती है। केजरीवाल के बाद I.N.D.I.A गठबंधन के दूसरे नेता भी गिरफ्तार होंगे। अगला नंबर झारखंड के CM हेमंत सोरेन, बिहार के डिप्टी CM तेजस्वी यादव, केरल के CM पी विजयन, तमिलनाडु के CM एमके स्टालिन और बंगाल की CM ममता बनर्जी का है।

 

Back to top button