विदेश

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम का यूएई के अल-एतिहाद पेमेंट्स के साथ हुआ समझौता

अबू धाबी
भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) की अंतरराष्ट्रीय इकाई एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड ने दोनों देशों के उपभोक्ताओं को तत्कालिक और किफायती सीमापार लेनदेन की सुविधा देने के लिए बृहस्पतिवार को अबू धाबी में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अल-एतिहाद पेमेंट्स के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए।

समझौते के तहत, यह लाभार्थी पहचानकर्ता (मोबाइल नंबर वीपीए) का उपयोग करके घरेलू लेनदेन की तरह सहज होगा। समझौते के बड़े फायदों में दोनों देशों के उपयोगकर्ताओं के लिए तुरंत और किफायती सीमापार धन-प्रेषण की उपलब्धता शामिल है। इससे लागू शुल्कों के साथ दोनों मुद्राओं में प्रेषण राशि के अग्रिम प्रदर्शन के माध्यम से उपयोगकर्ताओं के लिए पारदर्शिता भी बढ़ेगी। कार्ड स्विच के लिंकेज से कार्डधारक एटीएम, पीओएस (बिक्री केंद्र) टर्मिनलों और ई-कॉमर्स लेनदेन पर पारस्परिक आधार पर एक-दूसरे के अधिकार क्षेत्र में अपने घरेलू कार्ड (वैश्विक कार्ड जारी करने की जरूरत के बिना) का उपयोग कर सकेंगे।

इसके अलावा, संदेश मंचों के जुड़ने से स्विफ्ट जैसी बहुपक्षीय प्रणालियों पर निर्भरता कम हो जाएगी और यह न केवल किफायती होगी बल्कि वर्तमान भू-राजनीतिक स्थिति को देखते हुए दोनों देशों को सुलभता भी देगी। यह साझेदारी संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाले लगभग 3.5 मिलियन भारतीय प्रवासियों को अत्यधिक लाभ पहुंचाने के लिए तैयार है, जो सामूहिक रूप से सालाना 20 बिलियन डॉलर की बड़ी रकम भारत भेजते हैं। इन प्रवासियों का एक बड़ा हिस्सा ब्लू-कॉलर नौकरियों में काम करता है और अक्सर आर्थिक रूप से कमज़ोर होता है। यह अनूठा अवसर इस जनसांख्यिकीय के लिए वित्तीय अंतर को पाटने में मदद करेगा, उन्हें डिजिटल भुगतान समाधानों से जोड़ेगा और वित्तीय सेवाओं तक आसान पहुंच प्रदान करेगा।

Back to top button