विदेश

नेतन्याहू बोले- हमास आतंकी हमारे लिए अब मुर्दा, इजरायल के फास्फोरस बम हमले शुरू, मिटा देंगे नामोनिशां

इजरायल
हमास के हमले के बाद शुरू हुई जंग लगातार छठे दिन भी जारी है। इजरायल ने कहा है कि हमास को हम जड़ से मिटा देंगे।  इजरायल द्वारा गाजा पट्टी पर रॉकेट और अत्याधुनिक हथियारों द्वारा हमला किया जा रहा है। यह युद्ध कब रूकेगा, यह अभी कोई नहीं जानता लेकिन जैसे-जैसे युद्ध आगे बढ़ रहा है तो हथियारों का इस्तेमाल भी बढ़ रहा है और अन्य वैश्विक शक्तियां भी इजरायल की मदद के लिए आगे आ रही हैं जिससे युद्ध के और विनाशक होने की संभावना बढ़ गई है। आइए जानते हैं जंग का ताजा हाल

 इजरायली सेना जा पट्टी  पर हर तरफ से बम बरस रही है। रिपोर्ट के मुताबिक  इजरायल ने फास्फोरस बम से भी हमला करना शुरू कर दिया।   फिलीस्तीन के विदेश मंत्रालय का  आरोप है कि फॉस्फोरस बम के जरिए इजरायल अब गाजा में अटैक कर रहा है। फॉस्फोरस बम बहुत खतरनाक होता है ।ये बम जहां गिरता है, वहां तेजी से ऑक्सीजनम सोखने लगता है। ऐसे में जो लोग इसकी आग से नहीं जलते, वे दम घुटने से मर जाते हैं। और ये तब तक जलता रहता है, जब तक कि पूरी तरह से खत्म न हो जाए। यहां तक कि पानी डालने पर भी ये आसानी से नहीं बुझता, बल्कि धुएं का गुबार बनकर भड़कने लगता है।
 
इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने एक रेड लाइन लाइन खींचते हुए दो टूक कहा है कि हमास के सारे लड़ाके अब हमारे लिए मुर्दा हैं और हमास को जड़ से खत्म कर देंगे। बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा, 'हम सभी मोर्चों पर अपनी पूरी ताकत से लड़ रहे हैं। हमास ISIS है, और इसे वैसे ही कुचल दिया जाएगा और खत्म कर दिया जाएगा जैसे दुनिया ने उसको खत्म कर दिया। नेतन्याहू ने इस बयान के जरिए साफ कर दिया है कि युद्ध अभी और चलेगा और हमास के खात्मे तक तो यह रूकने वाला नहीं है।
 

इजरायल के रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने कहा कि   'मैंने 47 वर्षों तक एक सैनिक और सेनानी के रूप में इज़रायल की सेवा की है, मैंने कई मुश्किल हालात देखें हैं लेकिन मैंने ऐसी घटना कभी नहीं देखी। बच्चों की गला घोंटकर हत्या कर दी गई, लोगों को जला दिया गया जो एक बर्बर कृत्य है। यहूदी लोगों ने 1945 के बाद से कभी ऐसी घटना नहीं देखी थी। '  इजरायल के लाखों सैनिक गाजा में घुसने के लिए तैयार हैं।  इजरायली सेना के आधिकारिक प्रवक्ता के मुताबिक 3 लाख से अधिक इजरायली सैनिकों ने गाजा को चारों तरफ से घेर रखा है  जिनमें आर्मर्ड कोर, आर्टिलरी, इंफैंट्री समेत इंटेलिजेंस विंग के जवान और अधिकारी शामिल हैं।
 

इजरायली सेना ने चारों तरफ से गाजा का संपर्क काट दिया है । इजरायली हवाई हमलों और बरसते बमों के बीच फिलिस्तनी जान बचाने के लिए गाजा पट्टी छोड़कर भाग रहे हैं।  फिलिस्तीनियों से गाजा को खाली कर मिस्र जाने के लिए कह दिया गया है।  इस दौरान राफा लैंड बॉर्डर पर मिस्र के ट्रक गाजा के लिए डीजल-पेट्रोल लेकर पहुंचे थे लेकिन गाजा की नाकेबंदी किए इजरायल ने बम बरसाकर उन्हें पीछे लौटने पर मजबूर कर दिया। वहीं मिस्र जाने की कोशिश में जुटे फिलिस्तीनियों में खलबली मच गई गाजा पोर्ट को तबाह कर इजरायल ने समंदर के रास्ते किसी भी मदद का रास्ता बंद कर दिया।
 

हमास के हमलों के बाद से गाजा की हजारों इमारतें नष्ट हो चुकी हैं। इसमें हमास हमले के मास्टरमाइंड मोहम्मद जाएफ का घर भी शामिल है। इजरायल की सेना ने जब गाजा पर हमले किए तो मोहम्मद जाएफ के घर पर बम गिरा कर मिट्टी में मिला दिया। हालांकि, उसके मारे जाने को लेकर कोई खबर नहीं है।हमास की तरफ से दावा किया जा रहा है कि वो बच गया है।
 

इजरायल के हमलों के बीच गाजा पट्टी कई इलाके अंधेरे में डूबे हुए हैं। इजरायल ने गाजा की पॉवर सप्लाई काट दी है। कुछ जगहों पर जेनरेटर के जरिए रौशनी दी जा रही है।  हमास की सेना चारों तरफ से घिरी हुई हैं, इसलिए कोई बाहरी मदद भी नहीं मिल पा रही है। उसके पॉवर प्लांट में ईंधन भी खत्म हो चुके हैं। गाजा में मौजूद एक पत्रकार हसन जबर ने  बताया कि वहां कोई भी सुरक्षित जगह नहीं बची है। इजरायल के बम हमलों के बाद कई होटल, मीडिया ऑफिस और मंत्रियों के बंगले बर्बाद हो चुके हैं. इस हमले में तीन पत्रकार भी मारे गए हैं।

 

Back to top button