ब्रेकिंग न्यूज़

अब दुबई से वापस नहीं भागेंगे नवाज शरीफ, इस दिन पाकिस्तान में करेंगे वापसी; लड़ाई को तैयार वकील…

पीएमएल-एन के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी की कानूनी टीम ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान वापसी को हरी झंडी दे दी है।

शहबाज ने बताया कि नवाज शरीफ 21 अक्टूबर को पाकिस्तान आएंगे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आने के बाद नवाज शरीफ संविधान के मुताबिक कानून का सामने करेंगे।

नवाज शरीफ 2019 से लंदन में रह रहे हैं। वे इमरान खान की सरकार के दौरान चिकित्सा आधार पर अपनी सात साल की जेल की सजा के बीच में लंदन के लिए रवाना हो गए थे। 

नवाज शरीफ करेंगे पार्टी का नेतृत्व

नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) का यह बयान इन खबरों के बीच आया है कि पार्टी के भीतर एक समूह ने उन्हें सलाह दी थी कि स्वदेश लौटने के लिए यह समय सही नहीं है।

अगले साल जनवरी में होने वाले आम चुनाव में 73 वर्षीय नवाज के पीएमएल-एन का नेतृत्व करने की उम्मीद है।

समाचार पत्र ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने सूत्रों के हवाले से अपनी खबर में कहा कि ‘‘पार्टी के सुलह समूह’’ का मानना है कि लोग इस समय बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी से परेशान हैं तथा उन्हें पीएमएल-एन प्रमुख की स्वदेश वापसी में कोई दिलचस्पी नहीं है।

खबर के अनुसार, नवाज शरीफ के छोटे भाई एवं पूर्व प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ; उनकी बेटी एवं पार्टी की वरिष्ठ उपाध्यक्ष मरियम नवाज; और भतीजे एवं पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री हमजा शहबाज ने लाहौर में एक अभियान शुरू किया और जनता की राय जानी।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, अभी आम चुनाव की तारीख की घोषणा नहीं की गई है। सूत्रों ने बताया कि बेहतर होगा कि नवाज शरीफ आम चुनाव के करीब या चुनाव की तारीख की घोषणा के बाद देश लौट आएं।

दुबई आते हैं लेकिन पाकिस्तान नहीं?

बता दें कि हाल ही में एक पाकिस्तानी मानवाधिकार कार्यकर्ता ने आरोप लगाया था कि नवाज शरीफ दुबई तक आते हैं और फिर वहां से वापस लंदन भाग जाते हैं।

पाकिस्तानी पूर्व अफसर और मानवाधिकार कार्यकर्ता आरिफ अजाकिया ने मजाकिया अंदाज में पाकिस्तान के सूरत-ए-हाल पर तंज कसा है और कहा है कि चार हफ्ते की छुट्टी लेकर लंदन गए नवाज शरीफ चार साल से लंदन में ही मजे कर रहे हैं। उन्हें अब पाकिस्तान आने से भी डर लगता है।

अजाकिया ने कहा कि नवाज शरीफ लंदन से दुबई आते हैं, अबू धाबी आते हैं लेकिन फिर लंदन भाग जाते हैं। उन्हें अपनी गिरफ्तारी का डर सता रहा है।

पाकिस्तान में चुनाव का वक्त नजदीक

पाकिस्तान निर्वाचन आयोग ने पिछले महीने घोषणा की थी कि आम चुनाव जनवरी 2024 के आखिरी सप्ताह में कराये जाएंगे। सूत्रों ने बताया कि पीएमएल-एन के नेता शाहिद खकान अब्बासी ने भी लंदन में नवाज के साथ बैठक में ये बातें दोहराई थीं, लेकिन नवाज ने देश लौटने का मन बना लिया था और पार्टी से उनके स्वागत की तैयारी करने को कहा था।

पीएमएल-एन के एक अन्य समूह ने कहा कि यदि नवाज शरीफ की वापसी को टाला गया, तो पार्टी के बारे में जनता में नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और इसीलिए उन्हें देश लौटने के अपने फैसले पर कायम रहना चाहिए।

पीएमएल-एन के नेता इरफान सिद्दीकी ने कहा कि नवाज शरीफ की 21 अक्टूबर को स्वदेश वापसी तय है और कार्यक्रम में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

सिद्दीकी ने एक वीडियो संदेश में कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री उमरा तीर्थयात्रा करने के लिए पहले सऊदी अरब पहुंचेंगे और इसके बाद संयुक्त अरब अमीरात जायेंगे।

उन्होंने कहा कि नवाज 21 अक्टूबर को पाकिस्तान लौटेंगे। उन्होंने कहा कि नवाज की स्वदेश वापसी के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया गया है और उनकी वापसी में देरी होने संबंधी खबरें झूठी हैं।

Back to top button