देश

सुरक्षा पाने को नेता खुद कराते हैं कॉल, मैं देशभक्त गैंगस्टर जो खालिस्तान के खिलाफ: लॉरेंस बिश्नोई

 नई दिल्ली
जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई से नेशनल इन्वेस्टिगेशन टीम (NIA) की पूछताछ जारी है। खबर है कि बिश्नोई ने जांच एजेंसी को जबरन वसूली के काम, रुपयों के बदले धमकी भरे कॉल समेत कई गतिविधियों की जानकारी दी है। साथ ही गैंगस्टर ने जांच अधिकारियों को जेल में रहकर चल रहे 'बिजनेस मॉडल' के बारे में भी बताया है। कहा जा रहा है कि उसके नेटवर्क में कई बड़े गैंगस्टर्स का नाम भी शामिल है। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया, 'गैंगस्टर ने जांच अधिकारियों को बताया है कि वह शराब कारोबारियों, कॉल सेंटर के मालिकों, ड्रग सप्लायर और रियल एस्टेट कारोबारियों से हर महीने 2.5 करोड़ रुपये की जबरन वसूली करता था। साथ ही दावा किया है कि कई राजनेता और कारोबारी उसे जबरन वसूली के लिए धमकीभरे कॉल करने के लिए कहते थे, ताकि उन्हें संबंधित राज्य की पुलिस से सुरक्षा मिल सके।' बीते साल हुई पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में भी लॉरेंस का नाम सामने आया था। इस हत्या का मास्टरमाइंड गोल्डी बराड़ को माना जा रहा था। इसके अलावा गैंगस्टर ने कई मौकों पर बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को भी मारने की बात कही है।

दाऊद और खालिस्तान के खिलाफ
रिपोर्ट के अनुसार, सूत्रों ने बताया, 'लॉरेंस ने दावा किया है कि वह खालिस्तान की बात के खिलाफ है और सिर्फ अन्य अपराधियों के साथ मिलकर अपना क्राइम सिंडिकेट चलाना चाहता है।' रिपोर्ट के मुताबिक, गैंगस्टर ने पूछताछ के दौरान बताया है कि वह डी कंपनी और दाऊद इब्राहिम के भी खिलाफ है।

कैसे काम करता है गैंग
खबर है कि NIA को लॉरेंस से जानकारी मिली है कि वह उत्तर प्रदेश के धनंजय सिंह, हरियाणा के काला जठेड़ी, राजस्थान के रोहित गोदारा और दिल्ली के रोहित मोई और हाशिम बाबा के साथ मिलकर काम करता है। रिपोर्ट में एक अधिकारी के हवाले से बताया गया, 'इस बिजनेस मॉडल में वे टोल की सुरक्षा और हिस्सेदारी के लिए कॉन्ट्रेक्ट लेते थे। साथ ही किसी दुश्मन को खत्म करने के लिए वह एक दूसरे को हथियारों के साथ शूटर्स भी उपलब्ध कराते थे।'

 

Aakash

Back to top button