उत्तर प्रदेश

प्रयागराज पुलिस का एक्शन तेज, अतीक अहमद के गुर्गों पर संपत्ति कब्जाने में 7 पर मुकदमा

प्रयागराज

प्रयागराज पुलिस ने संपत्ति कब्जाने के मामले में अतीक के गुर्गों पर कार्रवाई तेज कर दी है। कीड़गंज की रहने वाली बेबी फरजाना पत्नी मो. नफीस ने धूमनगंज थाने में सात लोगों को नामजद कर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। बेबी का आरोप है कि मुंडेरा मंडी में उसके पति की दुकान पर माफिया अतीक के गुर्गों ने कब्जा कर लिया। उनके पति को शारीरिक और मानसिक तौर पर इतना परेशान किया कि दुकान के सामने ही उनकी मौत हो गई।

बेबी फरजाना का कहना है कि अतीक के गुर्गे होने की वजह से मंडी समिति ने भी कोई कार्रवाई नहीं की। उनका आरोप है कि खुद को अतीक का गुर्गा बताने वाले आरोपित अब उसे धमकी दे रहे हैं। उसका परिवार भूखा मरने की कगार पर है। आरोप है कि दुकान पर कब्जे के लिए इन लोगों ने कूटरचित दस्तावेज का इस्तेमाल किया। है। फर्जी कागजों पर दुकान कब्जा कर ली। मामले में सब्जीमंडी शाहगंज निवासी अब्दुल रशीद बहार, मो. गौस, जीशान, फैजान, रिजवान, नईम और वसीम को नामजद कर धूमनगंज थाने में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। पुलिस का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है।

प्रयागराज जाएगी बरेली पुलिस
अशरफ के साले सद्दाम के मोबाइल से प्रयागराज के उसके जिन दो मददगारों के नाम सामने आए हैं, वे प्रयागराज में थाना धूमनगंज के कसारी-मसारी क्षेत्र के रहने वाले हैं। जल्दी ही उनकी तलाश में बरेली पुलिस प्रयागराज जाएगी।  बता दें कि पिछले दिनों अशरफ से अवैध मुलाकात प्रकरण में एसटीएफ ने उसके साले सद्दाम को दिल्ली के मालवीयनगर इलाके से गिरफ्तार किया था। पूछताछ के बाद बिथरी चैनपुर पुलिस ने उसे जेल भेजा था। इस दौरान पुलिस को सद्दाम के कई मोबाइल नंबर और उसकी कॉल डिटेल भी मिल गई। इसमें प्रयागराज में धूमनगंज इलाके के कसारी-मसारी में रहने वाले दो गुर्गों के नाम भी सामने आए। आगे हुई जांच में पता चला कि इन दोनों ने अतीक-अशरफ के नाम पर सद्दाम के जरिये करीब 300 करोड़ की प्रापर्टी में निवेश कराया था।

Back to top button