मध्यप्रदेश

ससुरालवालों की हैवानियत दहेज के लिए फिजियोथेरेपिस्ट बहू को पीटा; दरवाजे के बीच उंगलिया फंसाकर तोड़ीं

जबलपुर

जबलपुर में एक फिजियोथेरेपिस्ट बहू के साथ अमानवीयता का मामला सामने आया है। बहू नीति ने ससुराल वालों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसका कहना है कि ससुराल वाले जिसमें पति सास-ससुर और ननद उसके साथ बेरहमी से मारपीट करते हैं। इतना ही नहीं घुटनो के बल चलवाते हैं। दरवाजे के बीच उंगलिया रख कर उन्हें भी तोड़ा गया है। चार साल के बच्चे की भी बेदर्दी से पिटाई की गई है। इसके साथ कई और गंभीर आरोप लगाए हैं। नीति अभी अस्पताल में भर्ती हैं और पुलिस जांच के बाद कार्यवाही की बात कर रही है।  

जबलपुर लार्डगंज थाना क्षेत्र में गढ़ा फाटक क्षेत्र में फिजियोथेरेपिस्ट के साथ हुई अमनवीयता के चलते उसके भाई ने परिजनों के साथ रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट में कहा है की उसकी बहन के साथ ससुराल वालों ने मारपीट करते हुए अमानवीयता की हद पार की है। दहेज के लिए परेशान किया जा रहा है। पति विपुल जैन के साथ सास-ससुर, ननदों द्वारा यातना दी जा रही है। नीति के बच्चे को उसके सामने ही मारते थे। नीति की उंगलियां दरवाजे के बीच फंसाकर तोड़ दी। कई बार घुटने के बल चलवाया। ससुराल वाले उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करते हैं।

नीति के भाई ने कहा कि सभी लोग मिलकर उसे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करते रहते थे। तीन साल तक हमें नीति से मिलने नहीं दिया गया। चार दिन बाद भी दोषियों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। उन्होंने बताया कि नीति जैन का 2017 में गढ़ा फाटक निवासी सुपारी व्यवसायी विपुल जैन के साथ विवाह हुआ था। अपनी हैसियत के अनुसार धूम-धाम से शादी की। विवाह के कुछ माह बाद ही पति विपुल जैन, ससुर शील चंद जैन, सास कमला जैन और तीनों बहनों ने नीति को मारना-पीटना शुरू कर दिया।

तीन तारीख की देर रात मामा का फोन आया और उन्होंने बताया कि नीति की तबीयत बहुत ज्यादा खराब है। चार तारीख की सुबह हम नीति के घर गए तो देखा कि उसके पूरे शरीर में चोट के निशान हैं। चेहरे पर भी दाग बने हुए हैं। हालत गंभीर देखते हुए उसे तुरंत मेडिकल कॉलेज ले गए। हालत में सुधार नहीं हुआ तो उसे निजी अस्पताल में भर्ती किया गया।

लार्डगंज थाना पुलिस की एसआई का संध्या चंदेल का कहना है की मामला दर्ज किया गया है। नीति के परिवार वालों ने विपुल जैन सहित सास-ससुर और ननद द्वारा यातना देने की बात कही है। मामले में जांच की जा रही है। अभी नीति जैन की हालत बयान देने की स्थिति में नहीं है इसलिए बयान नहीं हो पाए है जैसे ही बयान होंगे दोषियों पर जल्द कार्यवाही भी की जाएगी।

Back to top button