विदेश

ट्रूडो की जल्द विदाई तय, खुद ही छोड़ेंगे सत्ता : लिबरल पार्टी के दिग्गज नेता की भविष्यवाणी

कनाडा  

 कनाडा में इन दिनों कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपने गलत फैसलों और रणनीतियों के कारण राष्ट्रीय और अंतर्राष्टीय मोर्चों पर कड़ी आलोचना झेल रहे हैं। भारत के साथ निज्जर विवाद हो या चीन से संबंध अथवा देश में कार्बन टैक्स का मुद्दा, सभी मामलों में ट्रूडो को देश की छवि बिगाड़ने के  लिए कोसा जा रहा है। देश के बिगड़ते राजनीतिक हालात के बीच कनाडा  की लिबरल पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व प्रधानमंत्री के चीफ ऑफ स्टाफ पर्सी डाउनी ने ट्रूडो को लेकर चौंकाने वाली भविष्यवाणी की है।  पर्सी डाउनी ने कहा कि प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की जल्द ही विदाई तय है लेकिन देखना यह है कि वह खुद ही  सत्ता  छोड़ेंगे या पार्टी उन्हें निकाल बाहर करेगी। चीफ ऑफ स्टाफ ने  पार्टी को  जस्टिन ट्रूडो के स्थान पर एक नया नेता खोजने का आह्वान किया है।
 

 प्रकाशित एक स्पष्ट और  चुभने वाली राय में सीनेटर पर्सी डाउनी ने नेशनल न्यूजवॉच के लिए लिखा कि पार्टी को अगले चुनाव से पहले ट्रूडो को लिबरल नेता के रूप में विदा कर देना चाहिए। डाउनी, जो प्रधान मंत्री जीन चेरेतिन के स्टाफ के प्रमुख थे और कई अन्य वरिष्ठों के साथ काम कर चुके थे, ने लिखा, "कार्रवाई का विवेकपूर्ण तरीका प्रभावशाली लिबरल कॉकस से उठकर उन नीतियों की रक्षा करना है जो वास्तव में   ट्रूडो  पूरा करने में सक्षम थे।"  "यदि अगला उदारवादी नेता पार्टी को राजनीतिक स्पेक्ट्रम के केंद्र में वापस लाने में सक्षम है, तो उदारवादियों के पास ट्रूडो को बदलने और फिर से अपना नेता चुने जाने का मौका है।" डाउनी ने बुधवार को प्रकाशित एक साक्षात्कार में हिल टाइम्स को यह भी बताया कि उनका मानना ​​है कि  ट्रूडो फरवरी तक निर्णय ले सकते हैं कि अगले चुनाव के लिए बने रहना है या उससे पहले पद छोड़ना है।
 

डाउनी को 2001 से 2003 तक उनके चीफ ऑफ स्टाफ के रूप में कार्य करने के बाद 2003 में चेरेतिएन द्वारा प्रिंस एडवर्ड आइलैंड के लिए सीनेटर के रूप में नियुक्त किया गया था। इससे पहले उन्होंने चेरेतिएन सरकार में विभिन्न मंत्रालयों में कार्य किया था।  डाउनी लिखते हैं कि 2015 में पार्टी को तीसरे स्थान से बाहर निकालने और सरकार जीतने के लिए उदारवादी ट्रूडो के आभारी हैं, लेकिन उन्होंने ट्रूडो सरकार को ऐसी स्थितियाँ बनाने के लिए दोषी ठहराया, जिससे पियरे पोइलिवरे के नेतृत्व में कंजर्वेटिवों  से हार का सामना करना पड़ सकता है।  डाउनी ने लिखा  सरकार में राजकोषीय जिम्मेदारी की कमी के कारण  ट्रूडो को चुना गया गया था लेकिन उनकी वजह से हमारी अर्थव्यवस्था को जो नुकसान हुआ वह अब जनमत सर्वेक्षण के आंकड़ों में दिखाई दे रहा है।"

Back to top button