देश

लोकसभा चुनाव से पहले विश्‍व हिंदू परिषद ने मेगा प्‍लान तैयार

लखनऊ
 लोकसभा चुनाव 2024 होने में भले ही अभी कई महीने का वक्‍त है पर सभी राजनीतिक दल इसकी तैयारी में जुट गए हैं। भारतीय जनता पार्टी लगातार अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रणनीति बना रही है। इस बीच, विश्‍व हिंदू परिषद ने भी बड़ा प्‍लान तैयार किया है। वीएचपी ने दिवाली के दौरान प्रत्येक घर में कम से कम 5 मिट्टी के दीपक जलाने और उन्हें अयोध्या में राम मंदिर के लिए समर्पित करने का अभियान चलाएगी। प्रत्येक मिट्टी का दीपक मंदिर के लिए 100 वर्षों के इंतजार का प्रतीक होगा। राम मंदिर का उद्घाटन अगले साल जनवरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

विहिप प्रवक्ता विनोद बंसल का कहना है कि यह अभियान राम मंदिर के लिए हिंदू समुदाय के 500 से अधिक वर्षों के इंतजार के अंत का प्रतीक होगा। यह अभियान महत्वपूर्ण है क्योंकि अगले साल की शुरुआत में भव्य राम मंदिर को जनता के लिए खोले जाने से पहले यह आखिरी दिवाली होगी। संगठन के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को इसे बढ़ावा देने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि संदेश जमीनी स्तर पर फैलाया जाए।

फैसला आते ही चला था 44 दिनों का राम मंदिर निधि समर्पण अभियान

सूत्रों ने कहा कि विहिप पदाधिकारी अभियान और दिवाली के अंतिम उत्सव में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए दलितों और अन्य सामाजिक-आर्थिक वर्गों तक पहुंचेंगे। अभियान का क्रियान्वयन राम मंदिर निर्माण के लिए फंड कलेक्शन के लिए विहिप द्वारा चलाए गए अभियान के समान होगा। आपको बता दें कि 2019 में सुप्रीम कोर्ट के राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाए जाने के तुरंत बाद वीएचपी ने 44 दिनों का विशेष 'राम मंदिर निधि समर्पण अभियान चलाया था।

इस अभियान में विभिन्न क्षेत्रों से लगभग 62 करोड़ लोगों ने हिस्सा लिया था। यह अभियान योगी सरकार के राम की पैड़ी सहित अयोध्या के 47 घाटों पर दीपोत्सव पर 24 लाख दीये जलाकर एक और गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड हासिल करने की योजना के साथ आता है। इस आयोजन में जिला प्रशासन की तरफ से लगभग 25,000 स्वयंसेवकों को शामिल किया जाएगा।

Back to top button